Categories
Uncategorized

जैविक खेती क्या है और जैविक खेती कैसे की जाती है ?

जैविक खेती क्या है और जैविक खेती कैसे की जाती है ?– नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप ? एक बार फिर से आप सभी का स्वागत है आपके अपने आर्टिकल पर । दोस्तों आज हम आपको अपनी इस आर्टिकल के माध्यम से एक बिल्कुल नई जानकारी देने वाले हैं । दोस्तों आज हम आपको बताएंगे कि आप जैविक खेती कैसे कर सकते हैं और जैविक खेती होती क्या है ? तो दोस्तों अगर आप भी यह जानकारी पाना चाहते हैं तो हमारा आर्टिकल पूरा आखरी तक पढ़िए ।

जैविक खेती क्या है ? 

दोस्तों जनसंख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती चली जा रही है जिस वजह से खाद्य पदार्थों की मांग भी बढ़ती चली जा रही है ऐसे में बहुत सारे लोग पैसे कमाने की लालच में केमिकल वाली दवाओं का इस्तेमाल करके फसल को जल्दी पका देते हैं और मार्केट में बेचने के लिए उतार देते हैं।

इस प्रकार से पकी फसल को खाने से हमारे शरीर में बुरा प्रभाव पड़ता है और इससे हमारा स्वास्थ्य भी खराब हो जाता है पर अगर हम जैविक खेती करते हैं तो यह हमारे शरीर के लिए बहुत स्वास्थ्य पद होती है क्योंकि जैविक खेती में किसी भी प्रकार के केमिकल का इस्तेमाल नहीं किया जाता है।  जैविक खेती वह खेती होती है जिसमें फसल उगाने के लिए सिर्फ प्राकृतिक संसाधनों का इस्तेमाल किया जाता है जैसे कंपोस्ट खाद गोबर इत्यादि।

केमिकल खेती की वजह से लोगों के स्वास्थ्य पर दिन प्रतिदिन बुरा प्रभाव पड़ रहा है इसीलिए अब आवश्यकता है कि दोबारा जैविक खेती शुरू की जाए जिससे आपको फसल में मौजूद प्रोटीन और विटामिन पूरी मात्रा में मिलता रहे । आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से यह बताएंगे कि आप जैविक खेती कैसे कर सकते हैं ?

जैविक खेती करने का उद्देश्य।

आप सभी लोगों को फल और खाद्य पदार्थों में उपस्थित प्रोटीन और विटामिन भरपूर मात्रा में मिले जिससे आप हमेशा स्वस्थ रहें और प्राकृतिक तरीके से खेती को बढ़ावा दिया जाए यही जैविक खेती का मुख्य उद्देश्य है।

जैविक खेती की आवश्यकता क्यों है ?

देश में दिन पर दिन रासायनिक खेती बढ़ती चली जा रही है लोग फसल उगाने के लिए अपने खेतों में तरह तरह के केमिकल से बने दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं यह दवाइयां हमारे शरीर पर बुरा प्रभाव डालती हैं इनसे हमारे शरीर में कई दुष्परिणाम नजर आते हैं जैसे त्वचा में एलर्जी होना हृदय संबंधी रोग चेहरे पर पिंपल्स निकलना शारीरिक वृद्धि ना होना । यदि यह केमिकल हमारे शरीर में निरंतर जाता रहा तो भविष्य में इसके और भी कई घातक परिणाम देखने को मिलेंगे , इसीलिए अब आवश्यकता है कि देश में जैविक खेती को बढ़ावा दिया जाए जिससे हमें शुद्ध अनाज मिल सके इसको खाकर हम स्वस्थ रहें।

पहले के समय में लोग साथ 70 वर्ष तक जीते थे और स्वस्थ रहते थे किंतु अब के समय में 40 वर्ष से 30 वर्ष तक के युवाओं में भी हफन और कमजोरी नजर आती है इसका एक मात्र कारण यही है कि लोगों को भरपूर मात्रा में प्रोटीन और विटामिन नहीं मिल पा रहा है जो उन्हें चाहिए । यह सब इसलिए हो रहा है क्योंकि फलों को कृत्रिम रूप से पकाया जा रहा है , अगर फसल प्राकृतिक रूप से भरपूर प्रोटीन और विटामिन मौजूद रहेगा जो हमारे शरीर में जाएगा और इसीलिए आवश्यकता है कि जैविक कृषि शुरू की जाए।

जैविक खेती के फायदे 

जैविक खेती के बहुत सारे फायदे हैं

जैविक खेती से भूमि की गुणवत्ता सुधर जाती है और भूमि और उपजाऊ हो जाती है ।

जैविक खेती का इस्तेमाल करने से जमीन की उर्वरक क्षमता बढ़ जाती है।

जैविक खेती से पर्यावरण प्रदूषण कम होता है।

अगर आप जैविक खेती करते हैं तो आपको ज्यादा पानी की आवश्यकता नहीं होगी।

जैविक खेती में अधिक और शुद्ध फसल तैयार होती है।

जैविक खेती में मुनाफा ज्यादा मिलता है।

जैविक खेती करने से फसल के अवशेष को नष्ट करने की कोई आवश्यकता नहीं होती है।

जैविक खाद कैसे तैयार करें ?

दोस्तों अगर आप जैविक खेती करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको जैविक खाद तैयार करनी होगी आइए हम आपको बताते हैं कि आप जैविक खाद कैसे तैयार कर सकते हैं?

जैविक खाद बनाने के लिए आपको सबसे पहले जमीन में कम से कम 4 फुट चौड़ा और 4 फुट गहरा और लगभग 11 फुट लंबा गड्ढा खोदना होगा।

अब आपको अपने घर में जानवरों के बचे हुए खाने को गोबर को और अन्य कई पौधों के अवशेषों को इस गड्ढे में डालते रहना है और गड्ढे में निरंतर पानी डालते रहना उसमें नमी बनाकर रखनी है।

अब लगभग 30 दिन हो जाने के बाद आपको गड्ढे में पड़े सभी अवशेषों को एक बार पलट देना होगा।

इस प्रकार कुछ ही दिनों में आप की जैविक खाद बनकर तैयार हो जाएगी जिसका इस्तेमाल आप फसल में कर सकते हैं यह खाद बनने में लगभग आपका 3 महीने तक का समय लग जाएग।

Read More: Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *